Asia Cup: भारत 7वीं बार बना चैंपियन

 

भारत और बांग्लादेश के बीच हुए एशिया कप के खिताबी मुकाबले को टीम इंडिया ने अपने नाम कर लिया है। इसी के साथ भारत एशिया कप 2018 चैंपियन बन गया। पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश की टीम ने भारत के सामने 223 रनों का लक्ष्य रखा था जिसे भारत ने मैच की आखिरी गेंद पर तीन विकेट रहते पूरा कर लिया।

भारत 7वीं बार बना एशिया कप का चैंपियन
223 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत को तेज शुरुआत तो मिली लेकिन सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा और शिखर धवन की जोड़ी ज्यादा देर टिक नहीं पाई। भारत को पहला झटका धवन (15 रन) के रूप में 35 रन पर लगा। इसके बाद बांग्लादेश के कप्तान मशरफे मुर्तजा ने अपने अटैक को कम न करते हुए महज 11 रन के अंतर पर एक और झटका देते हुए तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए अंबाति रायडू (2 रन) को अपना शिकार बनाया।

इसके बाद कप्तान रोहित शर्मा ने चौथे नंबर पर बल्लेबाजी करने आए दिनेश कार्तिक के साथ मिल कर पारी को आगे बढ़ाया लेकिन 83 रन के स्कोर पर रोहीत के रूप में भारत ने अपना तीसरा विकेट गंवा दिया। इस विकेट के बाद दिनेश कार्तिक और महेंद्र सिंह धोनी के बीच 54 रनों की साझेदारी हुई। कार्तिक और धोनी क्रिज पर सेट दिखाई दे रहे थे। तभी 31वें ओवर में महमुदुल्लाह ने कार्तिक (37 रन) के विकेट के साथ इस पारी को तोड़ दिया। इसके बाद धोनी भी 36 रन बना कर पवेलियन की ओर चलते बने। अंत में रविंद्र जडेजा और भुवनेश्वर कुमार ने टीम के स्कोर को 212 रनों तक पहुंचाया लेकिन बांग्लादेश ने दो रन के अंदर दो विकेट लेकर मैच में एक बार फिर वापसी की। 

पैरों का मासपेशियों में खिचाव के कारण केदार जाधव को मैदान से बाहर जाना पड़ा था लेकिन जडेजा के विकेट के बाद वो मैदान पर वापस आए और कुलदीप यादव के साथ मिलकर भारत के जीत के तक पहुंचाया।

बांग्लादेश फिर खिताब के करीब आकर हारा
पहले बल्लेबाजी करते हुए बांग्लादेश की शुरुआत काफी अच्छी रही। ओपनिंग बल्लेबाज लिटन दास और मेहदी हसन के बीच 120 रनों की साझेदारी हुई। बांग्लादेश को पहला झटका केदार जाधव ने हसन (32 रन) के रूप में 120 रन पर लगा।  इसके बाद लिटन ने एक छोर संभाले रखा लेकिन टीम को एक भी अच्छी साझेदारी नहीं मिली। पहला विकेट 120 रन पर गिरने के बाद टीम 9 विकेट की मदद से कुल 102 रन और जोड़ पाई।

भारत की तरफ से शानदार गेंदबाजी और फील्डिंग देखने को मिली। इस बीच कुलदीप यादव ने 10 ओवरों में 45 रन देकर तीन विकेट अपने नाम किए। वहीं केदार जाधव ने 9 ओवरों में 41 रन देकर दो बल्लेबाजों को अपना शिकार बनाया। इस बीच रविंद्र जडेजा ने भी शानदार फील्डिंग करते हुए एक रन आउट भी किया था।