कोरोना की दूसरी लहर में भी गरीबों का मसीहा बने "महंत गौरव शर्मा"

 

पू्र्व विश्व चैंपियन भारतीय पावर लिफ्टर गौरव शर्मा कोरोना की दूसरी लहर में भी जरुरतमंद लोगों की मदद करने के लिए एक बार फिर आगे आ गए हैं। गौरव शर्मा हर रोज करीब 1000 लोगों के लिए खाना खुद बना रहे हैं और उसे बांट रहे हैं सरकार द्वारा स्वास्थ्य दिशा निर्देशों का पालन करते हुए गौरव जरुरतमंद लोगों को लगातार खाना पहुंचा रहे हैं
चांदनी चौक स्थित नरसिंह हनुमान मंदिर पर रोजाना इस पुण्य कार्य को करते हुए गौरव शर्मा को देखा जा सकता है उनके इस मानवीय कार्य की सराहना कई बड़ी-बड़ी हस्तियों ने भी की।



गौरव जी ने बताया कि अभी स्थिति बहुत खराब है और लॉकडाउन के कारण कई लोगों का नुकसान हुआ है मुझे पता है कि लॉकडाउन की जरूरत है लेकिन साथ ही, इसने सड़क पर कई लोगों के जीवन को प्रभावित किया है मैं सड़क पर गरीब लोगों की मदद के लिए जो कुछ भी कर सकता हूं मैं कर रहा हूं। छोटे बच्चों को भोजन के लिए रोते देखना निराशाजनक है मैंने दूसरों से भी उनकी मदद करने के लिए कहा।


आपको बता दें कि गौरव हमेशा से ही लोगों के सुख दुख में उनका साथ देते रहे हैं उनका हृदय इंसानियत के लिए हमेशा आगे आता रहा है हाल ही में गौरव शर्मा का जन्मदिन भी गरीब जनता की सेवा करते हुए बिताया गौरव के इस माननीय कार्य के लिए ईश्वर से हम सदैव प्रार्थना करेंगे की गौरव इसी तरह लोगों की मदद करते रहें और इसी तरह देश और समाज का नाम रोशन करते रहे