सनातन हिन्दू युवा वाहिनी संगठन ने छेड़ी मुहीम, विदेशी आक्रांताओं के नाम पर बने सड़के, किले, मार्ग और जगहों के नाम बदलवाने

 

सनातन हिन्दू युवा वाहिनी इकाई द्वारा कार्यकर्ता सम्मेलन हुआ जिसकी अध्यक्षता मुख्य संरक्षक श्री कालिका पीठाधीश्वर महंत सुरेन्द्र नाथ अवधूत जी श्री अवधूत जी ने कहा युवाओं को धर्मिक कार्य मे बढ़ चढ़ कर भाग लेना चाहिए, जिससे भारत की अखंडता और एकता बनी रहे. कार्यक्रम मे हरियाणा के प्रसिद्ध गायक एम डी और कवि प्रभात परवाना जी हरियाणा के प्रदेश अध्यक्ष श्री अनिल शर्मा जी मौजूद रहे । कार्यकर्ता सम्मेलन मे विदेशी आक्रांताओं के नाम से आजादी की माँग उठी, जिन आक्रांताओं ने देश को लूटा, जबरन धर्म परिवर्तन कराया भारत की सभ्यता को नष्ट करने का कार्य किया, बलात्कार किए बर्बरता से सनातन धर्म पर प्रहर किया आखिर कब तक इन आक्रांताओं के नाम को सम्मान मिलेगा । ये नाम आजाद हिंदुस्तान मे गुलामी के प्रतीक है दिल्ली के सड़को पर बाबर, तुग़लक़,अकबर, खिलजी, गाजी जैसे नाम रोड सड़क व इमारतों और रखी जगहों के नाम को बदलवाने के लिए सनातन हिन्दू युवा वाहिनी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष विक्रम गोस्वामी ने सभी लोगों से कहा की हमें लोगों को जागरूक करना होगा व एक अभियान चलाना होगा, आपने महापुरुषों के सम्मान मे एक जुट होना होगा हम आपने महापुरषों के बलिदान को भूल भूलना नही चाहिए. हमारे इतिहास से हुए छेड़ छाड़ हमें पढ़ाए जाने वाले इतिहास मे केवल विदेशी आक्रमणकारियो को महान बताया गए ! और हम आपने महापुरषों के बलिदान को भूल गए है। अब समय गया है उन सभी नामों को बदला जाए. महापुरुषों व वीर योद्धाओ को सम्मान देना सम्मान मे एकजुटता दिखानी होगी दिल्ली के राजा अनंगपाल तोमर थे उनके नाम से दिल्ली मे किस रोड सड़क या इमारत का नाम नही हज संगठन माँग करता है तुगलक किले का नाम बदल कर राजा अनंगपाल तोमर जी के नाम पर रखना चाहिए। सरकार से मांग के साथ साथ इसका जान जागरण होना व लोगो को समझना अति आवश्यक है कि यह सब चीजें अधिकतर हिन्दू राजाओ द्वारा निर्मित की गई है , जिस इतिहास को किताबो में कभी पढ़ाया ही नही गया । कार्यक्रम मे दिल्ली की 70 विधानसभाओं के अध्यक्ष के साथ साथ प्रदेश के सभी पदाधिकारी गण योगी सिद्धनाथ सीताराम राठौर, रमेश गुप्ता अरुण शर्मा, अनिल गुप्ता, मधुसूदन, दिनेश माथुर, संजय तरफदार, राम कुमार बलराम झा, आनंद शर्मा, विकास सिंह, विक्की चौधरी व भी उपस्तिथि रहे.