असफलता से लक्ष्य नहीं बदलना चाहिए- रोहित बिसाईया

 

राष्ट्रीय परीक्षा एजेंसी (NTA) ने मंगलवार को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग, राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा का परिणाम घोषित किया आपको बता दें कि इस परीक्षा के लिए 1034872 उम्मीदवारों ने पंजीकरण कराया था जिसमें से 793813 उम्मीदवारों ने परीक्षा दी थी और 60147 उम्मीदवार असिस्टेंट प्रोफेसर के लिए सफल हुए।

इसी परीक्षा में बाबरपुर क्षेत्र के तथा श्याम लाल कॉलेज के पूर्व छात्र रोहित बिसाईया असिस्टेंट प्रोफेसर बनने की दौड़ में सफल रहे । आपको बता दें कि रोहित बिसाईया एक पत्रकार तथा सोशल मीडिया के एक चर्चित युवा है और उन्होंने वर्ष 2017 में दिल्ली विश्वविद्यालय के श्याम लाल कॉलेज से हिंदी में एम.ए. उत्तीर्ण की तथा उसके बाद पत्राचार करने के पश्चात मीडिया से जुड़े।

उनके इस सफल परीक्षा परिणाम के बाद परिवार तथा उनके मित्रों के साथ, उनके शिक्षकगणों में भी खुशी की लहर देखने को मिल रही है और लगातार उन्हें शुभकामनाएं व बधाई दी जा रही है। आपको बता दें कि रोहित बिसाईया एक बहुमुखी प्रतिभा के युवा है उन्होंने शिक्षा क्षेत्र से लेकर राजनीति, पत्रकार, कलाकार और एक सफल शिक्षक की भूमिका निभाते रहे हैं। उन्होंने बताया कि असफलताओं के बाद मिली सफलता का आनंद ही कुछ और होता है।